अंगिका भाषा एवं साहित्य का इतिहास – History of Angika Language & Literature – by Jasim Uddin

Angika is a language of the Anga region of India, a 58,000 km² area that falls within the states of Bihar, Jharkhand and Bengal

Angika Literature dates back to at least the 7th century and may be divided into three main periods:ancient,medieval, andmodern.

The different periods may be dated as follows: ancient period from 650-1200, medieval period from 1200-1800, and the modern period from 1800 to the present. The medieval period may again be divided into three periods: early medieval-also known as the period of transition- from 1200-1350; high medieval from 1350-1700, including the pre-Chaitanya period from 1350-1500 and the Chaitanya period from 1500-1700; and late medieval from 1700-1800. The modern period begins in 1800 and can again be divided into six phases: the era of prose from 1800-1860, the era of development from 1860-1900, the phase of rabindranath tagore (1861-1941) from 1890-1930, the post-Rabindranath phase from 1930 to 1947, t…

Read more about अंगिका भाषा एवं साहित्य का इतिहास – History of Angika Language & Literature – by Jasim Uddin
  • 0

अंगिका आलोचना, निबंध एवं शोध साहित्य

‘अंगिका गाथा काव्य में गीति तत्व’ (डा0 सरिता सुहावनी) कोया से बाहर आवॊ (कुन्दन अमिताभ) छन्द मौनी, छनद हौनी, गजल रॊ पिंगले (सभी डा0 अमरेन्द्र) कबीर हंस दर्शन – छोटेलाल मंडल, समीक्षात्मक निबंध (डा0 डोमन साहु समीर) संस्कृति सुमन (डा0 चकोर) अंगिका काव्यांग (सुमन सूरो) अंगमाधुरी आरो चकोर (डा0 शिवनारायण)
Read more about अंगिका आलोचना, निबंध एवं शोध साहित्य
  • 0

अंगिका इतिहास साहित्य – Angika History Literature

अंगिका साहित्य का इतिहास (डा0 अभयकान्त चैधरी एवं डा0 चकोर) अंगिका भाषा का इतिहास (डा0 तेजनारायण कुशवाहा) अंग और अंगिका के अन्र्तराष्ट्रीय आयाम (कुन्दन अमिताभ) अंगिका साहित्य रॊ इतिहास (डा0 डोमन साहु समीर डा0 कुशवाहा, डा0अमरेन्द्र) अंगिका भाषा आरो साहित्य (सुमन सूरो) अंगिका पत्रकारिता रॊ इतिहास (डा0 मधुसूदन झा)
Read more about अंगिका इतिहास साहित्य – Angika History Literature
  • 0

अंगिका जीवनी एवं यात्रा वृतांत साहित्य (Angika Literature – Angika Biography and Journey)

हमरॊ जीवन के हिलकोर (डा0 अभयकांत चैधरी) मलिनी के संस्मरण (विकास पाण्डेय) आध्यात्मिक आरो साहित्यिक जतरा (डा0 नरेश पाण्डेय चकोर) चकोर आरो हुनकॊ साहित्य साधना (डा0 तेजनारायण कुशवाहा) गणनायक केरॊ देश में, ‘अंगिका के आदि कवि : सरह’ (सभी कुन्दन अमिताभ) ऐंगन्है में अतीत (डा0 मृदुला शुक्ला) नैहरा के ओलती आरो ऐंगना (जीवनलता पूर्वे)
Read more about अंगिका जीवनी एवं यात्रा वृतांत साहित्य (Angika Literature – Angika Biography and Journey)
  • 0

अंगिका साहित्य (Angika Literature – An Overview)

केवल लिखित साहित्य को ही आधार मानें तो अंगिका भाषा में साहित्य निर्माण की समृध्द परम्परा प्राचीन काल से ही सतत रूप से जारी है, जो प्रामाणिक रूप से पिछले तेरह सौ वर्षों के कालखंडों में बिखरा पड़ा है. महापंडित राहुल सांकृत्यायन के अनुसार हिन्दी भाषा के लिखित साहित्य का प्राचीनतम स्वरूप ‘अंग’ के प्राचीन सिध्द कवि ‘सरह’ की आठवी सदी में लिखी अंगिका-अपभ्रंश भाषा की रचनाओं में उपलब्ध है. अगर वैदिक संस्कृत में सृजित साहित्य के प्रारंभिक वर्षों को भारतीय भाषाओं में साहित्य लेखन की शुरूआत मानी जाय तो ‘अंगिका’ भाषा में साहित्य निर्माण का कार्य आज से चार हजार वर्ष पूर्व शुरू हो चुका था. अंगिका में लिखित एवं अलिखित दोनों ही तरह के साहित्य प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं. आज की स्थिति यह है कि अंगिका भाषा का अपना वेब पोर्टल अंगिका.कॉम बर्ष 2003 से अस्तित्व में हैं. साथ ही अंगिका भाषा में गुगल.क़ॉम जैसा विश्व के अव्वल दर्जे का सर्च इंजन भी बर्ष 2004 से उपलब्ध है. किसी भी विकसित भाषा की उत्कृष्टता का पैमाना बन चुके इन सुविधाओं से लैस होकर इंटरनेट क्रांति के इस युग में अंगिका भारत ही नहीं विशव की…
Read more about अंगिका साहित्य (Angika Literature – An Overview)
  • 0

अंगिका साहित्य – प्राचीन साहित्य (Angika Sahitya – Prachin Sahitya)

Kavi Saraha was the first poet of Angika, whose poetry are available in written form. Poems were written by him in 800 A.D. Sarah's famous "Doha Kosha" was written in Angika Language. He Wrote 36 books in Angika. Sarah is also considered as the first poet of Hindi language whose poetry is available in written forms (this fact is not proved yet).
Read more about अंगिका साहित्य – प्राचीन साहित्य (Angika Sahitya – Prachin Sahitya)
  • 0

अंगिका साहित्य – वर्तमान परिदृश्य (Angika Sahitya – Present Scenario)

Presently hundreds of standard books and thousands of articles are available in Angika language. Ang Madhuri, a monthly magazine of Angika language is being published by Dr. Naresh Pandey Chakore regularly for the last 39 years. Angika is being taught in Tilkamanjhi University of Bihar state at Graduation and Post Graduation Levels.
Read more about अंगिका साहित्य – वर्तमान परिदृश्य (Angika Sahitya – Present Scenario)
  • 0