चारों धाम से निराला ब्रजधाम है: किशोरी जी;

शाहकुंड। चारो धामों से निराला ब्रजधाम है। जहां भगवान श्रीकृष्ण का दर्शन सरलता से हो जाता है। ब्रजवासियों के लिए इसके आगे वैकुंठ भी फीका है। उक्त बातें प्रिया किशोरी जी ने प्रखंड के माणिकपुर गांव में भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के छठे दिन कथावाचन में कही। भगवान ने गोपियों का मनोरथ पूरा करने के लिए रास किया है। भगवान की रासलीला को उन्होंने कथावचन में विस्तार से बताया। भगवान से प्रेम हो जाय, तो वे किसी रूप में मिल जाते हैं।