पटोरी बाजार में सहरसा सुपौल मार्ग हुआ जलमग्न;

सहरसा

मंगलवार की रात तेज हवा के साथ हुई हल्की बारिश में ही जहां ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति नारकीय हो गई है। वहीं पटोरी बाजार स्थित सहरसा-सुपौल मुख्य मार्ग में जमा पानी से तालाब जैसा नजारा दिखने लगा है। हल्की बारिश में ही सभी पंचायतों में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है लेकिन पटोरी बाजार स्थित मुख्य मार्ग में घुटना भर पानी के जमा होने से वाहनों के आवागमन करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

स्थानीय व्यवसायी प्रीतेश सिंह सोनू , मनोज दत्ता , मुन्ना झा , कंचन गुप्ता एवं मनोज भगत आदि का कहना था कि बिहरा – पटोरी बाजार स्थित सहरसा – सुपौल मुख्य मार्ग के दोनों ओर सघन बाजार रहने एवं जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं रहने से हल्की बारिश में भी यहां घुटना भर पानी का जमाव हो जाता है। जलजमाव होने से जहां व्यवसायियों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। वहीं आवागमन करने वाले यात्रियों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जलजमाव को लेकर सड़क किनारे सब्जी बेचकर परिवार का भरण पोषण करने वाले कई छोटे व्यवसायियों का रोजगार प्रभावित हो गया है।

जल निकासी को लेकर कई बार हो चुका है धरना – प्रदर्शन

बिहरा – पटोरी बाजार स्थित सहरसा – सुपौल मुख्य मार्ग में जलजमाव से निजात दिलाने की मांग को लेकर स्थानीय व्यवसायियों एवं आमलोगों द्वारा कई बार आंदोलनात्मक कदम भी उठाया जा चुका है। पटोरी के पूर्व मुखिया के नेतृत्व में स्थानीय व्यवसायी एवं आमलोगों का कई बार धरना-प्रदर्शन एवं अनिश्चितकालीन आमरण अनशन भी किया जा चुका है। हर बार आला अधिकारियों द्वारा आश्वासन का सब्जबाग दिखा आंदोलन तो समाप्त करवा दिया जाता है। मगर समस्या जस की तस बनी हुई है।