सत्र को ठीक करना विश्वविद्यालय की चुनौती;

भागलपुर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विभाग सह संयोजक कुणाल पाण्डेय ने कहा कि विश्वविद्यालय न तो छात्रों की समस्या का समाधान कर पा रहा है न तो अपने कर्मचारियों का। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के पदाधिकारी खुद चाहते हैं कि विश्वविद्यालय लंबे समय तक बंद रहे, ताकि वह अपना छुट्टी मना सकें। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा सभी परीक्षाओं व सभी कक्षाओं को रद्द कर दिया गया, जो निंदनीय है। एक तरफ छात्रों का सत्र विलंब से चल रहा है। उनके सत्र को ठीक करने की चुनौती विश्वविद्यालय के समक्ष है। लेकिन यहां तो परीक्षा को भी रद्द कर दिया जाता है, ऐसे में छात्रों के भविष्य का क्या होगा।