इस्माईलपुर रिंग बांध: स्पर में रिसाव से हुआ धसान पांच घंटे बाद शुरू हुआ बचाव कार्य स्पर एवं तटबंध पर बढ़ा दबाव।

इस्माईलपुर-बिंद टोली में गंगा नदी शुक्रवार को खतरे के निशान से 110 सेंटीमीटर ऊपर बह रही थी। गंगा नदी के जलस्तर में लगातार हो रही बढ़ोतरी से इस्माईलपुर के डिमहा रिंग बांध के स्पर संख्या-3 के पास  पानी का काफी दबाव बढ़ गया है, पानी के दबाव से बांध में पानी का रिसाव होने लगा। इसससे शुक्रवार की सुबह  करीब 25 मीटर के दायरे में मिट्टी के धसने से अफरातफरी मच गई। संबंधित विभाग के द्वारा पांच घंटे बाद बचाव कार्य शुरूकिया गया।

 जिला पार्षद विपिन कुमार मंडल ने पांच घंटे बाद से तटबंध की मरम्मत किये जाने पर खासी नाराजगी व्यक्त की। स्पर संख्या पांच व जमीनदारी बांध पर लगभग पचीस मीटर धसान होने की सूचना से हड़कंप मच गया। दोनों ही स्थानों पर आनन -फानन में फ्लड फायटिंग कार्य प्रारंभ करवाया गया। स्पर संख्या छह एन व सात के बीच कट प्वांइट पर पानी का काफी दवाब है। ब्रह्मोत्तर बांध पर पानी का काफी दवाब है। ब्रह्मोत्तर बांध के ध्वस्त होने पर गोपालपुर प्रखंड की लगभग एक लाख आबादी पूरी तरह से प्रभावित हो जायेगी।

मुख्य अभियंता ई अनिल कुमार ने विभिन्न बांधों का निरीक्षण करने के बाद बताया कि स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। आवश्यकता के अनुसार सभी जगहों पर कार्य कराने की निर्देश कार्यपालक अभियंता को दिया गया है। उन्होंने बताया कि ब्रह्मोत्तर बांध को हर हाल में बचाने का निर्देश दिया गया है। बांध को बचाने में जरूरत के अनुसार बालू भरी बोरियां लगाने का निर्देश दिया गया है। वही सपर पर भी काफी दबाव बना हुआ है।