कहलगांव में गंगा खतरे के निशान से 88 सेंटीमीटर ऊपर;

गंगा के जलस्तर में लगातार वृद्धि का दौर जारी है। केंद्रीय जल आयोग के अनुसार प्रति दो घंटा में एक सेंटीमीटर की बढ़त से गुरुवार को सुबह आठ बजे कहलगांव में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से 88 सेंटीमीटर ऊपर 31.97 मीटर पर जा पहुंचा। केंद्रीय जल आयोग के अनुसार गंगा के जलस्तर में बढ़त जारी रहने की संभावना व्यक्त की गई है। शुक्रवार रात 10:00 बजे तक 32.08 मीटर पर पहुंचने का अनुमान है। कहलगांव में गंगा का डेंजर लेवल 31.09 है।

गंगा के जलस्तर में वृद्धि के साथ ही कहलगांव प्रखंड के बीरबन्ना, ओगरी, महेशामुंडा, धनोरा, भोलसर, जानीडीह, घोघा, पन्नूचक, कोदवार, प्रशस्तडीह, पंचायत के कई गांव में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। जलस्तर में हो रही वृद्धि के साथ गांव के नए इलाकों में भी पानी में घुस रहा है। वहीं प्रखंड के उच्च माध्यमिक विद्यालय भोलसर, मध्य विद्यालय अंठावन और मध्य विद्यालय प्रशस्तडीह में बाढ़ का पानी प्रवेश करने की वजह से पठन-पाठन बंद है। प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी बालेश्वर चौधरी ने बताया कि वर्तमान में पठन-पाठन के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई है। हालांकि सभी शिक्षकों को स्कूल में उपस्थित रहने का निर्देश दिया गया है।