इस साल कला केन्द्र में लगेगा नववर्ष सांस्कृतिक मेला;

भागलपुर। कला केंद्र में सांस्कृतिक समन्वय समिति के बैनर तले नववर्ष सांस्कृतिक मेला की तैयारी बैठक मंगलवार को उज्ज्वल घोष की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सांस्कृतिक समन्वय समिति के संयोजक उदय ने कहा कि पूर्व की बैठक के निर्णयनुसार मंगलवार को नगर आयुक्त से मुलाकत की। लेकिन सैंडिस कम्पाउंड में सांस्कृतिक मेला लगाने की अनुमति नहीं मिली। कहा गया कि जिनको कार्यक्रम करना है, वे ओपेन थिएटर में अनुमति लेकर कर सकते हैं। ओपन थिएटर का चार्ज 10 हजार लगेगा। उदय ने कहा कि इसलिए निर्णय लिया गया कि सैंडिस कम्पाउंड में इस साल नववर्ष मेला का आयोजन नहीं किया जायेगा।

बैठक में डॉ. हबीब मुर्शिद खां ने कहा कि नववर्ष सांस्कृतिक मेला भागलपुर ही नहीं, बिहार और संभवतः देश का एक अनूठा आयोजन था, जो साझी संस्कृति और साझी विरासत को केंद्र में रखकर किया जाता था। मेला संयोजक राहुल ने कहा कि हिंदी, उर्दू, बंगला, मैथिली, अंगिका और मलयाली संस्कृति की विविधता यहां दिखती थी। बैठक में सभी ने एक स्वर से नगर निगम द्वारा सैंडिस कम्पाउंड में नववर्ष सांस्कृतिक मेला लगाने की अनुमति नहीं देने की निंदा की। बैठक में सभी ने मिलकर यह निर्णय किया कि नववर्ष मेला का आयोजन कला केंद्र में एक जनवरी 2023 को किया जाए। बैठक में डॉ. चैतन्य प्रकाश, जय नारायण, डॉली, जय नारायण, मनोज कुमार, कोमल कुमारी, अभिषेक आदि मौजूद थे।