ईएसआई अस्पताल में मरीजों के लिए होंगे 100 बेड;

श्रम संसाधन विभाग ने जिले में दो जगहों पर कर्मचारी राज्य बीमा निगम के हॉस्पिटल के लिए जमीन मांगी है। यह अस्पताल सबौर के बरारी इंडस्ट्रियल इलाका और कहलगांव स्थित एनटीपीसी के समीप खोलने की योजना है। इसके लिए मुख्यालय से डीएम का पत्र भेजा गया है। एडीएम (राजस्व) ने अस्पताल के लिए दोनों अंचल के सीओ को जमीन की रिपोर्ट देने को कहा है।

बता दें कि जुलाई में भी श्रम संसाधन विभाग ने भागलपुर में 100 बेड की सुविधा के अस्पताल के लिए पांच एकड़ जमीन उपलब्ध कराने का अनुरोध किया था। सीओ से मांगी गई रिपोर्ट अब तक राजस्व विभाग को नहीं मिली है। सनद रहे कि जिले में अभी भागलपुर और कहलगांव में कर्मचारी राज्य बीमा निगम की डिस्पेंशनरी चल रही है। जहां ईएसआई के दायरे में आने वाले कर्मचारियों व उनके परिवारवालों का इलाज किया जाता है। चूंकि डिस्पेंशनरी में पूरी सुविधा नहीं होती है। इसलिए यहां आये कर्मचारियों को पर्ची पर पटना रेफर किया जाता है। श्रम अधीक्षक विनोद कुमार प्रसाद ने बताया कि ईएसआई अस्पताल खुलने से 100 बेड की सुविधा होगी। रोजाना 500 मरीजों का यहां इलाज हो सकेगा। अस्पताल के निर्माण पर करीब 200 करोड़ रुपये खर्च होने की संभावना है। अस्पताल निर्माण पर आने वाला सारा खर्च कर्मचारी राज्य बीमा निगम उठाएगा। 2016 में ईएसआईसी के प्रस्ताव को श्रम संसाधन विभाग ने मंजूरी दी थी। अस्पताल खुलने से अत्याधुनिक इलाज के अलावा एलोपैथ व आयुर्वेद की सुविधा भी मिलेगी।