एंथ्रोपोलॉजी के छात्रों को मिलेगी अच्छी शिक्षा:डॉ सोनल पांडेय को मिला ICSSR का माइनर रिसर्च प्रोजेक्ट, टीएमबीयू के एंथ्रोपोलॉजी के छात्रों को मिलेगा लाभ;

टीएमबीयू के पीजी एंथ्रोपोलॉजी विभाग के नवनियुक्त सहायक प्रोफेसर डॉ सोनल पांडेय को इंडियन कॉउंसिल ऑफ सोशल साइंस रिसर्च, नई दिल्ली द्वारा माइनर रिसर्च प्रोजेक्ट प्राप्त हुआ है। इस प्रोजेक्ट का शीर्षक है इनवायरमेंटल सस्टेनेबिलिटी एंड फोकलर्स एन इथनोग्राफिक स्टडी ऑन कॉन्सरबेशन एन्ड प्रिबेशन ऑफ इनवायरोमेंट इन द सेलेक्टेड डिस्ट्रिक्ट ऑफ उत्तर प्रदेश। इस माइनर रिसर्च प्रोजेक्ट की कुल अवधि एक वर्ष की होगी तथा इसके मुख्य अनुसंधानक डॉ सोनल पांडेय होंगी। इस रिसर्च प्रोजेक्ट के आंकड़े संग्रहन हेतू अल्पकालिक अवधि के लिए फील्ड इंवेस्टिगेटर भी नियुक्त किए जाएंगे।

एंथ्रोपोलॉजी विभाग में एजुकेशन को मिलेगा बढ़ावा

दीपक दिनकर ने बताया कि इस तरह के प्रोजेक्ट मिलने से एंथ्रोपोलॉजी विभाग में क्वालिटी एजुकेशन को बढावा मिलेगी। आसानी से सभी चीजों को सीख पाएंगे। इससे यहां के छात्र को नए चीजों के बारे में जानने का मौका मिलेगा। नए नए तरह के शोध कर पाएंगे। बच्चों में पढ़ाई की क्वालिटी भी बढ़ेगी। इस रिसर्च प्रोजेक्ट से कई विश्वविद्यालय के छात्रों को कई तरह के लाभ मिलेंगे। डॉ सोनल को मिले इस प्रोजेक्ट से विभाग में खुशी का माहौल है।