जलमीनार के कर्मी को नहीं मिला वेतन तो रोक दी नौ सौ घरों की पेयजलापूर्ति, आक्रोश ;

खेरेहिया पंचायत के हरियो पानी टंकी गांव स्थित जलमीनार में पानी आपूर्ति के लिए नियुक्त ऑपरेटर को वेतन नहीं मिलने पर बुधवार को सैकड़ो घरों की पेयजल आपूर्ति बंद कर दिया। पेयजलापूर्ति ठप होने से नाराज ग्रामीणों ने जलमीनार के समीप विरोध-प्रदर्शन किया।

पीएचईडी विभाग के द्वारा हरियो पानी टंकी में लगाये जलमीनार से नगर पंचायत अकबरनगर, खेरैहिया, इंगलिश चिचरौंन पंचायत के विभिन्न गांवों में करीब नो सौ घरों को रोजाना पानी की आपूर्ति होती है। बुधवार को सुबह पंप ऑपरेटर मिलन कुमार ने पिछले नौ माह से वेतन नहीं मिलने की बात कहकर पूरे क्षेत्र का पानी आपूर्ति बाधित कर दिया। जब लोगों को सुबह पानी नही मिला तो खेरेहिया पंचायत के जन संसद के पंचायत अध्यक्ष गुलाब शर्मा के नेतृत्व में करीब आधा दर्जन ग्रामीण पानी चलाने की मांग को लेकर पम्प पहुंचे और पानी चलाने का दबाब बनाया तो पम्प कर्मी ने 9 महीने से ठेकेदार के द्वारा पैसा नहीं मिलने की बात कहकर पानी नहीं चलाने की बात पर अड़ गया। जिससे नाराज ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया।

ग्रामीण गुलाब कुमार शर्मा, मोनू, राजा, शुभम, स्वपनिल, राकेश आदि ने बताया कि विभाग की उदासीनता का खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। पानी नहीं मिलने से महिलाओं को जल संबंधी कार्य करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, ऑपरेटर मिलन कुमार ने कहा कि पिछले 9 महीने से वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। जबकि इसकी जानकारी कई बार विभाग को दी गई है। साथ ही चेतावनी देते हुए कहा कि जल्द बकाया का भुगतान नहीं किया गया तो पूरी तरह से आपूर्ति को ठप कर दिया जाएगा। इस संबंध में ठेकेदार पवन चौबे ने बताया कि विभाग द्वारा वेतन के लिए राशि नहीं मिली है। राशि मिलने के बाद ऑपरेटर को भुगतान किया जाएगा। पेयजलापूर्ति बंद रहने की स्थिति में ऑपरेटर को बदल दिया जाएगा।देर शाम जलापूर्ति शुरू होने का दावा किया। हालांकि ग्रामीणों ने बताया की जलापूर्ति शुरू नहीं हुई है।

इस संबंध में जेई विकास कुमार ने कहा कि मामले की जानकारी नहीं मिली है। वेतन संबंधित मामला ठेकेदार व ऑपरेटर के बीच होता है। किसी भी सूरत में पेयजलापूर्ति बंद होने पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।