जेनरिक की जगह लिखते हैं ब्रांडेड दवा

भागलपुर : जवाहरल लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इमरजेंसी सेवा के अलावा रोजाना आउटडोर में इलाज के लिए औसतन 1500 से 1800 मरीज पहुंचते हैं. सोमवार को प्रभात खबर की टीम ने अस्पताल में इलाज कराने आये मरीजों के परची में लिखी दवा को देखा, तो पाया कि परची पर डॉक्टर की लिखी दवा में करीब 90 प्रतिशत दवा जेनेरिक नहीं होकर ब्रांडेड कंपनियों की थी. हड्डी दर्द का इलाज कराने आये कुरसेला के मोहन मंडल ने बताया कि डॉक्टर ने तीन दवा लिखी है
Source: Bhagalpur News