ठंड के सामने रेलवे पस्त, विक्रमशिला 15 घंटे पहुंची लेट;

भागलपुर। ठंड और कोहरे के कारण रेलवे का सारा सिस्टम पस्त हो गया है। ट्रेन चालकों को दी जाने वाली फॉग सेफ्टी डिवाइस भी ठंड के कारण अपनी करामात दिखाने में विफल साबित हो रही है। यही वजह है कि ट्रेनों के लेट, कैंसिल और री-शेड्यूल होने का सिलसिला लगातार जारी है।

सोमवार को आनंद विहार से खुलकर मंगलवार की सुबह भागलपुर आने वाली विक्रमशिला करीब 15 घंटे देरी से चली। देर रात यह ट्रेन भागलपुर पहुंची। सोमवार को दिल्ली से भागलपुर होते हुए कामख्या जाने वाली ब्रह्मपुत्र एक्सप्रेस करीब 10 घंटे देरी से चल रही थी। यह ट्रेन दूसरे दिन 7.20 शाम को भागलपुर पहुंचने वाली थी, किंतु देरी से भागलपुर पहुंची। इस कारण यात्रियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

यात्रियों की बढ़ी परेशानी

ट्रेन देरी होने से यात्रियों की मुश्किलें काफी बढ़ गई हैं। जैसे-जैसे ठंड में वृद्धि हो रही है, ट्रेन में सबसे ज्यादा परेशानी वृद्ध, बच्चे और महिला पैसेंजरों को हो रही है। इसमें लोग बीमार यात्रियों को साथ लेकर चल रहे हैं, उन्हें भी काफी दिक्क्तों का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन उनके पास कोई चारा भी नहीं हैं। गरीब रथ एक्सप्रेस 1.40 की जगह रात नौ बजे खुली। यह ट्रेन भागलपुर से करीब सात घंटे 20 मिनट देरी से खुली है। मालदा टाउन-दिल्ली फरक्का एक्सप्रेस को मालदा टाउन से पांच घंटे 20 मिनट से देरी से रवाना किया गया। यह ट्रेन मंगलवार देर रात 12.05 बजे खुली है। इस कारण यह ट्रेन बुधवार को सुबह भागलपुर पहुंची। रेलवे की तरफ से फरक्का और गरीब रथ को री-शेड्यूल किया था। यह जानकारी मालदा मंडल की पीआरए रूपा मोंडल ने दी है।