नई नगर सरकार आज पेश करेगी पहला बजट:जितना बड़ा मकान; उतना ज्यादा लगेगा होल्डिंग टैक्स, कूड़ा उठाव व पानी का भी लगेगा शुल्क;

नगर की नई सरकार साेमवार काे अपना पहला बजट पेश करेगी। इस पर शहरवासियाें पर टैक्स का बाेझ बढ़ाने की तैयारी है। अब जितना बड़ा मकान है, उतना ज्यादा हाेल्डिंग टैक्स देना हाेगा। साथ ही कूड़ा उठाव व पानी के लिए भी अब टैक्स भरना हाेगा। निगम पहले 15 करोड़ हाेल्डिंग टैक्स वसूलता था। अब तक 13 करोड़ इस बार वसूल भी चुका है। लेकिन मार्च से आउटसोर्सिंग एजेंसी टैक्स वसूल करेगी। उसे नए वित्तीय वर्ष में 50 करोड़ वसूली का टारगेट मिला है। यानी अब तीन गुना से भी अधिक हाेल्डिंग टैक्स वसूली का लक्ष्य है। इसका भार शहरवासियाें पर ही पड़ेगा।

इससे पहले निगम ने सर्वे नहीं कराया था कि शहर में कितने एक मंजिल से बड़े मकान हैं। इसलिए अधिकतर लाेगाें से एक मंजिल का टैक्स लिया जाता था। अब आउटसोर्सिंग एजेंसी सर्वे करेगी। जिसका जितने मंजिल का मकान हाेगा, उसका टैक्स उतना ज्यादा बढ़ जाएगा। बजट में खास यह है कि इस बार निगम प्रदूषण नियंत्रण पर भी 40 लाख रुपए खर्च करेगा। शहर के नए-पुराने भवनाें सर्वे हाेगा। इसके बाद टैक्स का निर्धारण हाेगा। दाे अतिरिक्त टैक्स कूड़ा उठाव व पीने के पानी के लिए भी इस बार से जुड़ेगा।

दाेपहर 12 बजे से बैठक हाेगी, विराेध की कम है गुंजाइश

पिछली बार 23 मई काे अपराह्न 3.30 में बजट की बैठक शुरू हुई और शाम 4.02 बजे समाप्त हाे गयी थी। इस बार निगम प्रशासन ने संभावित समय 45 मिनट रखा है, क्याेंकि स्टैंडिंग कमेटी में लगभग चीजें तय हाे गयी हैं। दूसरी बात यह है कि इस बार सभी सत्ता पक्ष के ही सदस्य हैं, सभी मेयर की कमेटियाें में शामिल हैं।

इक्के-दुक्के काे छाेड़कर बाकी किसी पार्षद ने इन कमेटियाें में रहने से इनकार नहीं किया है। लिहाजा बजट के दाैरान किसी तरह के विराेध की गुंजाइश भी कम ही है। इसी महीने सामान्य बाेर्ड की बैठक भी हाे गयी है इसलिए बाेर्ड के मुद्दे पर किसी तरह की चर्चा की संभावना नहीं है। इस बार बैठक का समय दाेपहर 12 बजे से रखा गया है।

प्रदूषण नियंत्रण पर भी रहेगा फाेकस

स्टैंडिंग कमेटी में बजट पेश करने से संबंधित मुद्दाें पर सहमति बन गयी है। इस बार शहर के सेहत के हिसाब से बजट तैयार किया गया है। स्वच्छता और प्रदूषण नियंत्रण पर भी फाेकस किया है। -डाॅ. वसुंधरा लाल, मेयर