नगर सरकार ने पेश किया बजट:नए वाटर वर्क्स के बाद पानी पर लगेगा शुल्क, मकानों के सर्वे के बाद तय होगा नया होल्डिंग टैक्स;

नई नगर सरकार से साेमवार काे 516 कराेड़ 86 लाख रुपए का बजट पेश किया। मेयर डाॅ. वसुंधरा लाल ने 36 लाख रुपये लाभ का बजट सदन के पटल पर रखा। नए वित्तीय वर्ष से शहरवासियाें काे नए असेसमेंट के अनुसार हाेल्डिंग टैक्स देना हाेगा। अब हर घर से कूड़ा उठाव के लिए प्रति माह न्यूनतम 30 रुपये व पानी पर प्रतिमाह न्यूनतम 40 रुपये लेने की तैयारी है। हालांकि यह कब से लगेगा, इसका निर्णय अभी नहीं हुआ है। लेकिन यह तय हुआ है कि पूरी तरह सुविधा देने के बाद ही यह चार्ज लगेगा।

नए वाटर वर्क्स से पानी देने के बाद ही यह शुल्क लगेगा। अभी शहर में पानी की सप्लाई के लिए पाइप लाइन बिछ रहा है। नया वाटर वर्क्स भी बनाया जा रहा है। हाेल्डिंग टैक्स का नए सिरे से निर्धारण के लिए मकानाें का भाैतिक सत्यापन हाेगा। नए वित्तीय वर्ष के लिए 50 कराेड़ रुपये सालाना का टारगेट तय हुआ है। लेकिन टैक्स बढ़ाने में यह ध्यान रखा जाएगा कि किसी पर ज्यादा बाेझ न पड़े। हर वार्ड में नए प्याऊ के निर्माण के लिए पार्षद जमीन चिह्नित करेंगे। खराब प्याऊ काे दस दिन के अंदर ठीक कराया जाएगा। खराब बाेरिंग की भी मरम्मत हाेगी। पिछली बार 32 मिनट में ही बजट पास हुआ था। इस बार एक घंटा 18 मिनट लगा।

पार्षदाें ने प्रतिमाह 20 हजार रुपए भत्ता मांगा नगर आयुक्त ने कहा-इसका प्रावधान नहीं

निगम सभागार में साेमवार काे दाेपहर 12.45 में बजट का सत्र शुरू हुआ। यह दाेपहर 2.03 में समाप्त हुआ। इसमें सबसे ज्यादा देर तक हाेल्डिंग टैक्स के निर्धारण पर ही चर्चा हुई। नगरआयुक्त याेगेश सागर ने 30 पन्नाें में शामिल बजट के बारे में पार्षदाें काे जानकारी दी। शांतिपू्र्ण तरीके से पार्षदाें ने बजट पास कर दिया। उन्हाेंने अपने लिए प्रति माह 20 हजार रुपए का भत्ता भी मांगा, जिसे नगर आयुक्त ने नियम का हवाला देकर खारिज कर दिया।

उन्हाेंने कहा कि पूर्व पार्षदाें का भत्ता आ गया है, वह जल्द मिल जाएगा। नगर आयुक्त ने कहा कि शहर में 24 कराेड़ में 12 कराेड़ ही हाेल्डिंग टैक्स की वसूली हाेती है। इस बार आउटसाेर्सिंग एजेंसी काे 50 कराेड़ का टारगेट मिला है। मेयर डाॅ. वसुंधरा लाल ने कहा कि मकानाें का असेसमेंट व टैक्स कलेक्शन एक व्यक्ति न करे, अलग व्यवस्था हाे। काम यूजर फ्रेंडली हाेना चाहिए और शिकायत के लिए कंट्राेल रूम बने।

न्यूनतम शुल्क पर मिलेगा पानी का टैंकर

डिप्टी मेयर सलाहउद्दीन अहसन ने नगर आयुक्त से कहा कि दाे माह बीत चुके हैं, किसी काे पता नहीं कि मेयर, डिप्टी मेयर व पार्षदाें काे क्या-क्या सुविधाएं यहां से मिलनी चाहिए। त्याेहार में धार्मिक स्थलाें पर पानी के टैंकर पर निगम टैक्स लेगा ताे यह चिंता की बात है। इस पर नगर आयुक्त ने कहा कि टैक्स ताे देना ही पड़ेगा। इस पार्षद संजय, रश्मि, कल्पना, बबिता, अनिल पासवान व माेंटी जाेशी समेत अन्य ने कहा कि सरकार के मंत्री या वीआईपी आते हैं ताे निगम पूरी मशीनरी झाेंक देता है। इसके बाद तय हुआ कि न्यूनतम शुल्क पर पानी का टैंकर मिलेगा।

निगम की सड़काें पर चलने वाली बड़ी गाड़ियों पर टैक्स लगाने पर विचार सरकार से आदेश आने के बाद होगा

नगर आयुक्त ने कहा कि निगम काे अपनी सड़काें से गुजरनेवाले हैवी ट्रक, ट्रांसपाेर्ट व अन्य वाहनाें से भी टैक्स वसूलने का अधिकार है। लेकिन अभी पाॅलिसी सरकार से तय हाेकर नहीं आयी है। जब नगर आयुक्त ने ओडीएफ प्लस पर चर्चा करते हुए कहा कि 39 में 27 सामुदायिक शाैचालय का कार्य पू्र्ण है, रिपेयरिंग इसी फंड से हाेगा।

इस पर स्थायी समिति सदस्य संजय कुमार सिन्हा ने कहा कि ओडीएफ के प्रस्ताव पर हमलाेगाें से साइन करवा कर कहा था कि फंड दाेबारा आएगा, याेजना समाप्त है ताे कहां से काम कराएंगे। इस पर नगर आयुक्त ने कहा कि जिनके घर शाैचालय नहीं बना है, जांच कराने के बाद सरकार से पैसा मांगेंगे।