पार्टी व धर्म की सरहदें तोड़ भारत जोड़ो यात्रा पहुंची भागलपुर, उमड़ा जनसैलाब;

भागलपुर। माघ की शाम में सर्द अपने शबाब पर थी और तेज पछुआ हवा देह में तीर की तरह चुभ रही थी, लेकिन पदयात्रा में शामिल कांग्रेसियों एवं आमजनता के चेहरे पर उत्साह दिख रहा था। पदयात्रा में पार्टी व धर्म की सरहदें टूटतीं दिखाई दीं और जनसैलाब सा नजारा दिख रहा था।

शहर की सीमा में प्रवेश करने से पहले भारत जोड़ो यात्रा में वही चंद चेहरे शामिल थे जो कि सिमरिया से चले थे, लेकिन शहर की सीमा में प्रवेश करते ही काफिला बड़ा हो गया। भारत जोड़ो यात्रा से करीब 500 मीटर आगे चल रहा कांग्रेस सेवा दल का जत्था न केवल पदयात्रा के आने की अहसास करा रहा था, बल्कि पदयात्रा में उत्साह का रंग भर रहा था। इस दौरान सड़क किनारे खड़ी महिलाएं, युवतियां व अन्य लोग अपने-अपने मोबाइल से इस ऐतिहासिक पदयात्रा को विडियो रिकार्डिंग के जरिये कैद कर रहे थे। वैन में लगे प्रोजेक्टर के जरिये लोगों को कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा निकाली गयी भव्य पदयात्रा की झलकियां दिखा रही थीं। फोर लेन अंडरपास से जैसे-जैसे भारत जोड़ो पदयात्रा आगे बढ़ती जा रही थी, वैसे-वैसे जुलूस का आकार बड़ा होता जा रहा था। हबीबपुर पहुंचते-पहुंचते ये पदयात्रा किसी बड़े जनसभा का आकार ले चुकी थी।

शाम साढ़े चार बजे अंडरपास के नीचे पहुंची यात्रा

कांग्रेस सेवा दल के जत्थे ने फोरलेन अंडरपास को शाम 4:24 बजे पार किया, जिसकी अगुवाई कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा कर रहे थे। वहीं करीब 500 मीटर पीछे चल रही भारत जोड़ो यात्रा की जमात शाम 4:35 बजे अंडरपास को पार कर दाउदबाट की तरफ बढ़ा। पदयात्रा में लगे बड़े-बड़े लाउडस्पीकर पर भारत जोड़ो, नफरत तोड़ो गीत चल रहे थे। पदयात्रा में शामिल राही शाम 5:03 बजे दाउदबाट पहुंचे तो वहां मौजूद बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्तचरण दास, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह, भागलपुर के विधायक अजीत शर्मा, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष परवेज जमाल व गौरव शास्त्री अपने लाव-लश्कर के साथ शामिल हुए और पैदल ही आगे चल दिये। इस दौरान पदयात्रा में करीब 350 कांग्रेस व अन्य स्थानीय जनता शामिल रहीं। शाम 5:16 बजे कांग्रेस की भारत जोड़ो पदयात्रा अपने गंतव्य यानी ठहराव स्थल हबीबपुर पहुंची। इस दौरान पदयात्रा अपने रौ में थी और लोग पदयात्रा में शामिल लोगों को माला पहनाकर स्वागत कर रहे थे।

अलाव सेंक तय की आगे की रणनीति

हबीबपुर स्थित कांग्रेस के जिलाध्यक्ष के आवास परिसर में करीब आधा दर्जन अलाव जले हुए थे। हरेक अलाव के चारों तरफ करीब एक दर्जन कुर्सियां लगी हुई थीं। इनमें से एक अलाव के चारों तरफ बिहार कांग्रेस के प्रभारी, बिहार के प्रदेश अध्यक्ष, भागलपुर के विधायक, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष व गौरव शास्त्री, बांका के जिलाध्यक्ष संजीव कुमार सिंह आदि ने हाथ सेंका और आगे की यात्रा की रणनीति तय की। इस मौके पर महेश राय, सुनंदा रक्षित, अभिषेक कुमार आदि की मौजूदगी रही।