बांका। कालाजार के मरीज सरकारी अस्पताल लाने पर ग्रामीण चिकित्सकों को मिलेंगे पैसे;

बांका। ताकालाजार उन्मूलन को लेकर स्वास्थ्य विभाग लगातार प्रयास कर रहा है। अभी हाल ही में जिले में सिंथेटिक पायराथायराइड के छिड़काव का काम पूरा हुआ है। अब कालाजार के मरीजों को चिह्नित करने का काम शुरू कर दिया गया है। इसी सिलसिले में शुक्रवार को बांका सदर अस्पताल के एसीएमओ सभागार में ग्रामीण चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में उन्हें कालाजार के लक्षण, बचाव और इलाज की जानकारी दी गई। प्रशिक्षण देने का काम जिला वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी व प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. बीरेंद्र कुमार यादव, वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी आरिफ इकबाल व केयर इंडिया के डीपीओ ओमप्रकाश नायक ने किया। प्रशिक्षण के दौरान ग्रामीण चिकित्सकों को बताया गया कि अगर आप कालाजार के मरीज को इलाज के लिए सरकारी अस्पताल लाते हैं तो प्रति मरीज आपको पांच सौ रुपये भारत सरकार की ओर से दिए जाएंगे। इसलिए आपके पास जो भी लोग इलाज के लिए आते हैं, उनके लक्षण को ठीक से पहचान लें। अगर आपको कालाजार के मरीज लगते हैं तो उसे सरकारी अस्पताल लेकर आइए।