बिजली कटौती से लोग आक्रोशित, अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन;

भागलपुर में बिजली की लगातार कटौती से उपभोक्ता आक्रोशित हो गये हैं। मंगलवार को बिजली उपभोक्ता संघर्ष समिति ने खलीफाबाग चौक पर बिजली विभाग के अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन किया। समिति के संयोजक प्रकाश चंद्र गुप्ता ने बताया कि हर साल गर्मी शुरू होते ही मेंटेनेंस के नाम पर बिजली काटी जाती है। बिजली कब आती है, कब जाती है उपभोक्ताओं को पता ही नहीं चलता है। शहर की बिजली व्यवस्था को दो भागों में विभक्त कर दिया गया है, जिस कारण एक क्षेत्र को अच्छी बिजली तो दूसरे क्षेत्र को कटौती का सामना करना पड़ता है। एक ही शहर में बिजली को लेकर दोहरा रवैया क्यों है। इसके अलावा विसर्जन के समय पूरे शहर की बिजली काट दी जाती है। इससे व्यापारियों के साथ आमलोग परेशान हैं। बिजली के सवाल पर बिजली कंपनी के पदाधिकारी चुप्पी साध लेते हैं। यहां हल्की सी आंधी-बारिश में बिजली व्यवस्था चरमरा जाती है। इसे ठीक करने में तीन से चार घंटे लग जाते हैं। उन्होंने कहा कि बिजली आपूर्ति में अगर जल्द सुधार नहीं होती है और 24 घंटे बिजली नहीं मिलती है तो आंदोलन किया जायेगा। इसकी जिम्मेदारी बिजली कंपनी की होगी। मौके पर सहसंयोजक निरंजन साह, नगर संयोजक कमल जयसवाल, मो. तकी अहमद जावेद, संजय कुमार, ओम भास्कर, रोहित पांडे, अमित कुमार, शरद सलारपुरिया, चंदन कुमार आदि मौजूद थे।

बिजली में सुधार को लेकर उपमुख्यमंत्री को लिखा पत्र

उधर, इस्टर्न बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने बुधवार को उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव को पत्र लिखकर बिजली कटौती से होने वाली परेशानियों का निदान करने का आग्रह किया। अध्यक्ष श्रवण कुमार बाज़ोरिया ने बताया कि शहर में होने वाले विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों, प्रतिमा विसर्जन, शोभायात्रा, मोहर्रम जुलूस आदि में लगातार बिजली कट कर दिया जाता है। इस कारण शहर के व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद करना पड़ता है। साथ ही व्यापारियों को आर्थिक रूप से काफी नुकसान उठाना पड़ता है और सरकार को भी राजस्व में कमी झेलनी पड़ती है। उपाध्यक्ष शरद सलारपुरिया ने बताया कि आने वाले त्योहारों को देखते हुए बिजली विभाग को अपनी ओर से यह सुझाव दिया जाए कि प्रतिमा विसर्जन जुलूस या कोई अन्य शोभायात्रा शहर के किसी भी इलाके से गुजरते वक्त, केवल उसी इलाके की सिर्फ बिजली काटी जाए। महासचिव सीए पुनीत चौधरी ने बताया कि शहर के मुख्य बाजार क्षेत्र की बिजली की व्यवस्था भी लचर हो गयी है। पीआरओ दीपक कुमार शर्मा ने उपमुख्यमंत्री से आवश्यक कार्रवाई करने की मांग की।