भागलपुर आयोजना क्षेत्र प्राधिकार का गठन:प्लानिंग एरिया में शामिल 262 गांवों में शहर के नियम होंगे लागू;

भागलपुर के प्लानिंग एरिया के विकास में राज्य सरकार ने एक कदम और बढ़ाया है। नगर विकास व आवास विभाग ने इसके लिए भागलपुर आयाेजना क्षेत्र प्राधिकार का गठन किया है। इसका अध्यक्ष डीएम काे बनाया गया है। प्राधिकार में दस सदस्य हाेंगे। नगर विकास व आवास विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी की है। इसमें कहा गया है कि एजेंसी ने शहर से सटे प्लानिंग एरिया की मैपिंग की है। इससे पता चलेगा कि अभी उस हिस्से में कहां क्या है। 28 मार्च काे डीएम की अध्यक्षता में बैठक हाेगी।

इसमें ड्राफ्ट प्लान पर विमर्श हाेगा। उसकी रिपाेर्ट विभाग काे भेजी जाएगी। वहां से निर्देश मिलने के बाद प्लानिंग एरिया में शामिल सबाैर, गाेराडीह, जगदीशपुर और नाथनगर के 262 गांवाें का विकास हाेगा। जलापूर्ति, सीवरेज, ड्रेनेज, पार्किंग व सड़क का निर्माण हाेगा। जानकारी के मुताबिक, प्लानिंग एरिया में शामिल इलाके में अगर काेई अपार्टमेंट या उद्याेग लगता है, ताे अब इसके लिए प्राधिकार से अनुमति लेनी हाेगी। मकान और अपार्टमेंट बनाने के लिए नक्शा भी प्राधिकार से ही पास कराना हाेगा। इसके लिए मानक तय हाेंगे। यानी, आवासीय भवन बनाने के लिए 20 फीट चाैड़ी सड़क हाेनी चाहिए। तभी भवन का नक्शा पास होगा। तय गाइडलाइन और नियमों के तहत ही इमारताें का निर्माण हाेगा।

ये काम होंगे प्राधिकार के जिम्मे

भागलपुर आयाेजना क्षेत्र प्राधिकार का मुख्य काम विकास की योजनाएं बनाना, सर्वेक्षण करना, विकास गतिविधियों को नियमानुसार नियंत्रित करना, आधारभूत संरचनाओं जलापूर्ति, सीवरेज, ड्रेनेज, पार्किंग, सड़क का निर्माण कराना हाेगा। राज्य सरकार की ओर से दिए गए काम काे कराना इसकी ही जिम्मेदारी हाेगी। मास्टर प्लान और अन्य विकास की याेजनाओं की तैयारी करना भी इसके जिम्मे रहेगा।

ये हैं प्लानिंग एरिया में शामिल गांव

  • जगदीशपुर – 90 गांव
  • एरिया – 60.51 वर्ग किमी
  • नाथनगर- 103 गांव
  • एरिया – 86.38 वर्ग किमी
  • सबौर – 59 गांव
  • एरिया – 58.96 वर्ग किमी
  • गोराडीह- 10 गांव
  • एरिया – 12.42 वर्ग किमी

गांव पंचायत के अधीन ही, लेकिन विकास शहर के जैसे

प्लानिंग एरिया का क्षेत्रफल 218.25 वर्ग किलाेमीटर है, जिसमें शहरी क्षेत्र का क्षेत्रफल 30.50 और ग्रामीण क्षेत्र का क्षेत्रफल 186.53 वर्ग किमी है। इसमें तीन शहरी प्रशासनिक इकाई-नगर निगम, हबीबपुर नगर पंचायत और सबौर नगर पंचायत शामिल हैं। शाहजंगी और नूरपुर दाे सेंसस टाउन और 262 राजस्व ग्राम हैं। इसमें जगदीशपुर के 90, नाथनगर के 103 राजस्व ग्राम व सबाैर के 59 और गाेराडीह के 10 गांव शामिल हैं। ऐसे में ये गांव पंचायत के ही अधीन रहेंगे।

प्राधिकार में ये हैं शामिल

अध्यक्ष : डीएम

सदस्य : मुख्य नगर निवेशक, नगर व क्षेत्रीय निवेशन संगठन या उनका प्रतिनिधि, नगर आयुक्त, डीडीसी, एडीएम राजस्व, पथ निर्माण, पीएचईडी व ग्रामीण कार्य विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर व राज्य सरकार की ओर से नियुक्त दाे व्यक्ति।

कल बैठक में हाेगा विमर्श

भागलपुर आयाेजना क्षेत्र प्राधिकार का गठन हाे गया है। एजेंसी की ओर से प्लानिंग एरिया की मैपिंग भी कर ली गई है। ड्राफ्ट प्लान तैयार किया गया है, जिस पर 28 मार्च काे बैठक में विमर्श हाेगा। -सुब्रत कुमार सेन, डीएम