भागलपुर को बिजली आवंटन में भारी कटौती, शहर के अधिकांश हिस्से अंधेरे में रहे;

भागलपुर। भागलपुर शहर के पावर सबस्टेशनों को बिजली सप्लाई करनेवाले सबौर ग्रिड के आवंटन में सोमवार शाम 5:35 बजे से भारी कटौती कर दी गयी। आवंटन में कमी स्टेट सीएलडी से ही की गई थी। इससे पूरे शहर में बिजली संकट की स्थिति रही। कई इलाके शाम से ही अंधेरे में डूबे रहे। ग्रिड को 85 मेगवाट की जगह 50 मेगावाट बिजली मिल रही थी। यह स्थिति रात के लगभग 9 बजे तक रही।

ग्रिड से 33 केवीए के तमाम फीडरों में लोड शेडिंग की जा रही थी, इसके कारण सबस्टेशनों को लगभग आधी बिजली मिल रही थी। नतीजा यह हुआ कि 11 केवीए के सभी फीडरों में भी लोड शेडिंग शुरू हो गई। 30 मेगावाट कम बिजली मिलने से सबौर ग्रिड से पावर सबस्टेशनों को रोटेशन पर बिजली मिलने लगी। वहीं, पावर सबस्टेशन से भी फीडरों को लोड शेडिंग पर रखा जाने लगा। ग्रिड के बिजली आवंटन में जब कमी की गयी, तब अलीगंज के बीजीपी-2, सेंट्रल जेल पावर सबस्टेशन की बिजली बंद कर दी गयी। इसे जब चालू किया गया, तो दूसरे कई पावर सबस्टेशन की बिजली बंद करनी पड़ी।

सबौर ग्रिड से रोटेशन पर एक बार में जिस उपकेंद्रों को बिजली दी जा रही थी, उन्हें इस बात की हिदायत मिली थी कि वह लोड कम कर शहर में आपूर्ति करें। इस कारण सभी फीडरों से सप्लाई मुमकिन नहीं हो रही थी। अगर किसी पावर सबस्टेशन के चार फीडर हैं, तो दो को बंद करना पड़ा। मोजाहिदपुर के सहायक अभियंता जितेन्द्र कुमार ने बताया कि ग्रिड से कम बिजली मिलने के कारण 11 केवीए के फीडर को लोड शेडिंग कर चलाया गया। हालांकि 8.35 बजे से बिजली आपूर्ति में सुधार हो गई है।