भागलपुर में खुलेंगे 165 नये उद्योग-धंधे;

भागलपुर। मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत जिले में इस साल 186 नये उद्योग-धंधे खुलेंगे। उद्योग खोलने वालों में 36 महिलाएं भी हैं। इस बार कई महिलाएं अलग-अलग ट्रेड के व्यापार में हाथ अजमायेंगी। नोटबुक निर्माण, पेवर ब्लॉक, बांस के फर्नीचर और सीमेंट की जाली बनाने में महिलाओं ने रुचि दिखाई है। साथ ही कई महिलाएं ऐसी हैं जो मसाला, सत्तू-पापड़ उत्पादन, रेडीमेड वस्त्रों का निर्माण आदि करेंगी। उद्योग विस्तार पदाधिकारी अखिलेश कुमार सिंह ने बताया कि उद्योग के क्षेत्र में भागलपुर की महिलाएं अब आगे बढ़ रही हैं। सरकार की ओर से उन्हें मदद दी जा रही है। इस कारण यहां उद्यमी व्यापार लगाने में इच्छुक हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री उद्यमी योजना में जिन लाभुकों का चयन हुआ है, उसके कागजात की जांच की जाएगी। इसके बाद विभाग की ओर से उन्हें ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके बाद ही उद्योग स्थापित करने के लिए राशि मुहैया करायी जायेगी। उन्होंने बताया कि नये उद्योग खुलने से रोजगार का विकल्प बढ़ेगा। खुद महिलाएं आगे बढ़ेंगी और कई लोगों को रोजगार मुहैया करायेंगी।

जयलता बांस के समान तो अलका खोलेंगी ढाबा

उर्दू बाजार की जयलता बांस के सामान तो ईशीपुर की अलका रंजना ढाबा खोलेंगी। हबीबपुर की डॉली का भी ढाबा व होटल के लिए आवेदन भी स्वीकृत हुए हैं। मिरजानहाट की रूपा व सबौर की पूनम शर्मा रेडिमेड वस्त्र का उद्योग लगायेंगी। इसके साथ नारायणपुर की अस्मिता कुमारी व शाहकुंड की शाहीना नाज नोटबुक का उद्योग लगायेंगी।