भागलपुर में जर्दालु आम के किसानों की बढ़ेगी आमदनी:एपीडा के माध्यम से पहुंचाया जाएगा विदेश, किसानों को मिलेगा लाभ;

भागलपुर का मशहूर जर्दालु आम को विदेश भेजने की तैयारी चल रही है। एपीडा के माध्यम से जर्दालु आम व कतरनी चूड़ा दोनों को विदेश भेजा जाएगा। इसके लिए तैयारियां भी शुरू हो गई है। पिछले वर्ष इंग्लैंड, बेल्जियम व बहरीन भेजा गया था। इस वर्ष और भी कई देशों में भेजा जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि इसमें किसानों को चिन्हित कर उसके आम को विदेश भेजा जाता है।

कई गणमान्य को पहुंचता है आम

जर्दालू आम और कतरनी चूड़ा के लिए बिहार का भागलपुर विश्वविख्यात हो गया है। यह आम हर वर्ष महामहिम राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत कई बड़ी हस्तियों को पहुँचता है। जर्दालू आम के सचिव वेद व्यास चौधरी ने बताया कि जर्दालू आम और कतरनी चूड़ा के लिए देशभर में बिहार का भागलपुर जाना जाता है। इसकी पहचान को बनाए रखना हमारी प्रथम प्राथमिकता रहेगी।

इस आम के कई फायदे हैं

जर्दालु आम के कई फायदे हैं। विशेषज्ञ की माने तो यह आम डायबिटीज के मरीज भी खा सकते हैं। जर्दालु आम पाचन क्रिया में मददगार साबित होता है। खास कर इसका स्वाद सब आम से अलग होता है। यह आम अधिक दिनों तक रह सकता है।

कई हेक्टेयर में होती है आम की फसल

भागलपुर व आसपास के हजार हेक्टेयर से अधिक जर्दालु आम की खेती होती है। खास कर सबौर में सबसे अधिक उपज इसकी होती है। अब देश के साथ साथ विदेशों के लोग भी आम का स्वाद चख पाएंगें।