सीसीटीवी से होगी काली प्रतिमा विसर्जन की निगरानी;

दिवाली, काली पूजा और प्रतिमा विसर्जन जुलूस के दौरान सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गयी है। विसर्जन जुलूस की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए शहरी क्षेत्र में 18 स्थानों पर सीसीटीवी लगाया जाएगा। जिले में 414 स्थानों पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस की तैनाती की गयी है। धार्मिक स्थलों के पास अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। जिले में 104 स्थानों को संवेदनशील चिह्नित करते हुए अतिरिक्त पुलिस की तैनाती की गयी है।

दिवाली और काली पूजा में विधि व्यवस्था बनाये रखने के लिए डीएम, एसएसपी और नवगछिया एसपी ने संयुक्त आदेश जारी किया है। भागलपुर सदर अनुमंडल में 239, कहलगांव में 103 और नवगछिया अनुमंडल में 72 जगहों पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस की तैनाती की गयी है। सभी थानाध्यक्षों को धार्मिक संस्थानों की गतिविधियों, असामाजिक तत्वों, अफवाह फैलाने वाले अपराधियों और साम्प्रदायिक दुर्भावना फैलाने वाले संस्थानों पर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया गया है। असामाजिक तत्वों द्वारा किसी तरह का अफवाह फैलाने पर तत्काल उसका खंडन करने को कहा गया है। जुलूस मार्ग में परिवर्तन करने पर एसडीओ, डीएसपी और थानाध्यक्ष लाइसेंस में इस बात का प्रमाण पत्र देंगे कि उनके द्वारा जुलूस मार्ग का भौतिक सत्यापन कर लिया गया है। भागलपुर शहरी क्षेत्र में विसर्जन जुलूस मार्ग में स्कार्ट करने के लिए 17 टीमें गठित की गयी हैं। कहा गया है कि प्रतिमा विसर्जन जुलूस में कुव्यवस्था फैलाने के उद्देश्य से औरतों पर भी पटाखे आदि फेंक दिया जाता है। जिससे विवाद होने की आशंका बनी रहती है। कभी-कभी दो पक्षों के बीच तनाव भी हो जाता है। शक्तिशाली पटाखे छोड़ने पर पाबंदी लगाने के लिए एसडीओ धारा 144 के तहत उक्त आशय का आदेश निर्गत कर सकते हैं। डीएसपी, इंस्पेक्टर और थानाध्यक्षों को चिह्नित संवेदनशील स्थलों पर नियमित रूप से भ्रमण करने का निर्देश दिया गया है। सभी मजिस्ट्रेट, पुलिस पदाधिकारी और जवानों को 24 अक्टूबर को अनिवार्य रूप से प्रतिनियुक्ति स्थल पर पहुंचने का निर्देश दिया गया है। सभी 28 अक्टूबर तक या प्रतिमा विसर्जन होने तक ड्यूटी पर तैनात रहेंगे।

तीन पालियों में कार्यरत रहेगा जिला नियंत्रण कक्ष

भागलपुर सदर अनुमंडल कार्यालय परिसर स्थित जिला नियंत्रण कक्ष (0641-2402082) 24 से 28 अक्टूबर तक तीन पालियों में कार्यरत रहेगा। जिला नियंत्रण कक्ष का वरीय प्रभारी पदाधिकारी वरीय उपसमाहर्ता सह डीआरडीए निदेशक मृत्युंजय कुमार को बनाया गया है। तीनों अनुमंडल के नियंत्रण कक्ष में एक-एक यूनिट अग्निशामक दस्ता रखने का निर्देश दिया गया है। बिजली विभाग को क्यूआरटी गठित करने को कहा गया है। ताकि समय पर कमियों को दूर किया जा सके। डिक्सन मोड़ पुल पर पूरब में, उल्टा पुल के दक्षिण दिशा में, अजन्ता टॉकिज रोड में गुरुद्वारा जाने वाली सड़क के मुहाने के आगे और उल्टा पुल के नीचे गिरधारी साह हटिया रोड जाने वाली सड़क के मुहआने पर बैरियर लगाया जाएगा। विसर्जन मार्ग में रोशनी की व्यवस्था करने का निर्देश नगर आयुक्त को दिया गया है।

इन जगहों पर लगेगा सीसीटीवी

चंपानाला पुल, नाथनगर टमटम पड़ाव, परबत्ती चौक, तातारपुर चौक, स्टेशन चौक, खलीफाबाग चौक, कोतवाली चौक, नया बाजार चौक, शंकर टॉकिज मोड़ के पास, आदमपुर चौक, छोटी खंजरपुर हनुमान मंदिर के पास, बड़ी खंजरपुर बड़गाछ के पास, मुसहरी घाट, मोजाहदिपुर थाना के पास, बरारी पुल घाट पर, कहलगांव के पूरब टोला काली स्थान, खुटहरी काली स्थान, राजघाट विसर्जन स्थल और कहलगांव घाट पर सीसीटीवी लगाया जाएगा। विसर्जन मार्ग में सात जगहों पर एम्बुलेंस के साथ मेडिकल टीम की तैनाती की जाएगी। अस्पतालों में भी 24 घंटे रोस्टर के अनुसार डाक्टरों की तैनाती और दवा आदि की पर्याप्त व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है।