सोहराई नृत्य के साथ धूमधाम से किया गया सूर्य प्रतिमा का विसर्जन;

थाना क्षेत्र के इंग्लिश चिचरौंन गांव में भव्य पूजा पंडाल में सात घोड़े पर की सवारी वाले भगवान सूर्य की प्रतिमा स्थापित की गई थी। जिसका सोमवार को देर रात सोहराई नृत्य के साथ धूमधाम से विसर्जन शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान शोभायात्रा में पूजा समिति के सदस्यों के साथ ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। पर्व के मौके पर झारखंड से इंग्लिश चिचरौंन पहुंचे आदिवासी महिलाओं व पुरुषों द्वारा प्रस्तुत पारंपरिक नृत्य लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ दिखा। विभिन्न इलाके के लोग भी इस नृत्य को देखने के लिए पहुंच रहे थे। वहीं हरिद्वार से आये कलाकारों ने शिव, पार्वती, अघोड़ी, राधा व कृष्ण सहित विभिन्न रोल करते हुए विसर्जन घाट तक पहुंचे। इस दौरान डीजे बाजे के साथ विभिन्न प्रकार के पारम्परिक रंग बिरंगे कपड़े से सुसज्जित झाकियां देखने को मिली। जिसका झूमते गाते लोगो ने खूब आनंद लिया।आस्था और भक्ति से भरा यह नजारा देर रात देखने को मिला। आदिवासी नृत्य का दल दर्शकों को लुभाते रहे। मांदर, झांझ, मजीरा जैसे पारंपरिक वाद्य यंत्रों और लोकगीतों की मधुर ध्वनि में लोक नृत्य भी पेश किया। विभिन्न इलाकों का नगर भ्रमण करने के बाद अंत में सूर्य प्रतिमा को इंग्लिश चिचरौंन घाट पर विसर्जित कर दिया गया। मौके पर पूर्व मुखिया ओमदत्त चौधरी, निर्मल कुमार, विभाष, मनोज पंडित, कन्हैया झा उर्फ सतीश झा, बिपिन सिंह, विनोद तांती, देवनांद सिंह आदि मौजूद थे।