स्मार्ट सिटी के अफसरों को डीएम का निर्देश:कहा- मार्च में हर हाल में कमांड एंड कंट्रोल सेंटर चालू करें;

डीएम सुब्रत कुमार सेन ने स्मार्ट सिटी के अफसराें काे निर्देश दिया है कि हर हाल में 31 मार्च तक कंट्राेल एंड कमांड सेंटर काे चालू कराएं। लेकिन यह निर्देश भी पहले की तरह ही बेअसर हाे सकता है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि अभी तक न ताे बिल्डिंग का काम पूरा हुआ है, न वहां साॅफ्टवेयर के संचालन के लिए बिजली कंपनी से ट्रांसफाॅर्मर ही लगाया गया है। साॅफ्टवेयर के लिए तीनाें फ्लाेर में सेंट्रलाइज्ड एयरकंडीशन का भी काम हाेना है।

वह भी शुरू नहीं हाे सका है। बिल्डिंग डिविजन का काम बहुत ही धीमी गति से चल रहा है। ऐसे में कमांड सेंटर के साॅफ्टवेयर का काम भी समय से नहीं हाे पा रहा है। इंजीनियराें के अनुसार सेंटर के लायक बिल्डिंग तैयार करने में ही अभी करीब 40 दिन का समय लग सकता है। कुल मिलाकर यह सेंटर अगले माह भी शहरवासियाें के लिए चालू हाेने की संभावना नहीं है। इस प्राेजेक्ट पर करीब 235 कराेड़ रुपए खर्च हाेने हैं।

कमांड एंड कंट्रोल सेंटर चालू हाेने से ये चार प्रमुख लाभ हाेंगे

​​​​​​​1. शहर के 144 किलाेमीटर सड़काें पर फाइबर केबल बिछायी जा चुकी है। इससे भविष्य में नगर निगम इंटरनेट कनेक्शन बेचकर अपनी आमदनी बढ़ा सकेगी। इसमें न्यूनतम एक एमबीपीएस से अधिकतम दस हजार एमबीपीएस स्पीड का इंटरनेट सप्लाई हाे सकेगा।

2. शहर के 16 अलग-अलग स्थानाें पर ट्रैफिक कंट्राेल के लिए सिग्नल लगाए गए हैं। सभी एक साथ चालू हाेंगे ताे जाम की समस्या नहीं हाेगी। सिग्नल ताेड़ने वालाें से जुर्माना भी वसूला जाएगा। इन सभी स्थानाें से अतिक्रमण भी हटाया जाएगा।

3. नगर निगम से जुड़े सभी कामकाज जैसे- पानी का कनेक्शन, जमीन का नामतरण, नक्शा पास करवाना, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाना, हाेल्डिंग टैक्स ऑनलाइन जमा करने से लेकर निगम की सरकारी याेजनाओं की अपडेट रिपाेर्ट ट्रैकिंग करना भी संभव हाेगा।

4. शुक्रवार की रात से शहर के सभी 16 ट्रैफिक सिग्नल वाले स्थानाें पर चार-चार कैमरे लगाने की शुरुआत हाे गयी है। ये सभी कैमरे वहां से गुजरने वाले वाहनाें के नंबर प्लेट डिटेक्ट करेंगे और ऑनलाइन चालान भी काटकर कंट्राेल रूम काे रिपाेर्ट करेंगे।

अभी ये कार्य बाकी हैं

बिल्डिंग पूरी तरह तैयार नहीं, न हैंडओवर हुई है

बिल्डिंग बनने के बाद छत का सीलिंग बनेगा

बिजली के लिए अलग से ट्रांसफाॅर्मर लगाया जाना है

ताइवान से कमांड सेंटर के लिए बड़ा स्क्रीन आएगा

1495 सीसीटीवी कैमरा शहर में लगाए जा चुके हैं

305 सीसीटीवी कैमरे अभी और लगाए जा रहे हैं

400 केवीए का बिजली कनेक्शन साॅफ्टवेयर के लिए चाहिए

1000 केवीए का बिजली कनेक्शन बिल्डिंग के लिए चाहिए

5वें फ्लाेर की छत पर सेंट्रलाइज्ड एसी की मशीन लगेगी

बिल्डिंग में फर्नीचर लगाने हैं

इन इलाकाें में भी लगाए जा रहे कैमरे

भीखनपुर आनंदबाग काॅलाेनी, हाउसिंग बाेर्ड जनता फ्लैट इलाका, मानिक सरकार राय बाड़ी लेन, बरहपुरा बगीचा राेड, लाजपत पार्क राेड, जिला स्कूल राेड, एसएम काॅलेज राेड, बरगाछ चाैक खंजरपुर सहित अन्य जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं।

ऐसा हाेगा स्क्रीन

यहां 70 इंच के 40 एलईडी स्क्रीन लगेंगे, जाे ताइवान से आएंगे

16 मीटर लंबा, 3.6 मीटर ऊंचा व 744 एमएम चाैड़ा स्क्रीन हाेगा

फस्ट, सेकेंड व थर्ड फ्लाेर पर कंट्राेल एंड कमांड सेंटर का काम हाेगा

कमांड सेंटर अगले माह से शुरू हाे जाए, इसके लिए हमलाेग लगे हुए हैं। ताइवान से एलईडी स्क्रीन आएगा और बिजली का काम हाेना बाकी है। बाकी साॅफ्टवेयर का काम भी तेजी से चल रहा है। एजेंसी को जल्द बिल्डिंग हैंडओवर करने का निर्देश दिया गया है। -डाॅ. याेगेश कुमार सागर, नगर आयुक्त