एनटीपीसी  एक महीने में बच्चियों को बनाएगा आत्मनिर्भर;

एनटीपीसी कहलगांव ने सोमवार से आस-पास के क्षेत्रों की बालिकाओं को सशक्त बनाने के लिए बालिका सशक्तिकरण अभियान प्रारंम्भ किया है। इस अभियान का मुख्य उदेश्य एनटीपीसी परियोजनाओं के आस-पास के रहने वाली सुविधा विहिन बालिकाओं को शिक्षित और सशक्त बनाना है। चार सप्ताह तक चलने वाली इस आवासीय कार्यशाला में परियोजना प्रभावित विभिन्न प्राथमिक विद्यालय के 10-12 आयुवर्ग के 120 बालिकाएं हिस्सा ले रही हैं।

एनटीपीसी कहलगांव के अंग भवन में आयोजित कार्यक्रम में एनटीपीसी के दिल्ली स्थित मुख्यालय के  राकेश प्रसाद, कार्यकारी निदेशक (सीएसआर/आर एंड आर) एवं  शुभा प्रसाद, अरिंदम सिन्हा, मुख्य महाप्रबंधक (कहलगांव) एवं  रूपाली सिन्हा, अध्यक्षा, सृष्टि समाज के साथ-साथ सभी विभागाध्यक्ष, यूनियन एवं एसोशियेशन, एनटीपीसी कर्मी एवं बड़ी संख्या में बालिका सशक्तिकरण अभियान में चयनित बालिकाओं और उनके अभिभावकों की उपस्थिति में दीप प्रज्ज्वलित कर बालिका सशक्तिकरण अभियान 2022 का शुभारंभ किया। 

बालिका सशक्तिकरण अभियान 28 दिन का एक आवासीय प्रशिक्षण कार्यशाला है। इसमें योग, ड्राईंग-पेन्टिग, नृत्य एवं संगीत, खेलकूद, आत्मरक्षा और अकादमिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। कार्यकारी निदेशक राकेश प्रसाद ने कहा कि एनटीपीसी परियोजना के आसपास गांव की बालिकाओं के उत्थान के प्रयासों के तहत कंपनी ने इस साल लगभग 35 प्रोजेक्ट लोकेशन्स पर इस पहल को बढ़ाने की योजना बनाई है। मुख्य महाप्रबंधक अरिंदम सिन्हा ने कहा कि बालिका सशक्तिकरण अभियान 23 मई से शुरू होकर 19 जून 2022 तक परियोजना के आवासीय परिसर में स्थित ईटी हॉस्टल में चलेगा।