कांवरिया पथ से प्रशासन ने शुरू किया अतिक्रमण हटाओ अभियान;

विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला आयोजित होने की संभावना को देखते हुए स्थानीय पुलिस और प्रशासन बुधवार को कच्चा कांवरिया पथ से अतिक्रमण हटाए जाने का कार्य प्रारंभ कर दिया है। इसके पूर्व प्रशासन द्वारा चार मई को माइकिंग कराकर अतिक्रमण हटाने हेतु अतिक्रमणकारियों को सूचना दी गई थी। बावजूद अतिक्रमण कारियों पर इसका कोई असर नहीं हुआ।

बुधवार को जिला से पुलिस बल, महिला पुलिस मंगाए जाने के बाद सीओ शम्भू शरण राय, बीडीओ मनोज कुमार मुर्मू, थानाध्यक्ष लाल बहादुर, एमओ डॉ. संजीव कुमार ने अपनी उपस्थिति में सड़क के दोनों ओर 70-70 फीट अतिक्रमित जगह को खाली कराया। सीओ ने बताया कि पथ के आरंभिक छोर से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की गई जो पहले दिन पहले कठपुलवा तक अतिक्रमण मुक्त कराया गया। पुलिस बल उपलब्ध होने पर आगे भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी रहेगी। अतिक्रमण मुक्त कराए गए जगहों पर नजर रखी जाएगी। इधर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू होते हीं कई अतिक्रमण कारियों द्वारा दो घंटे का समय प्रशासन से मांगते रहे। लेकिन प्रशासन द्वारा कोई मोहलत नहीं दी गई। यहां तक कि एक निवर्तमान महिला पार्षद द्वारा भी सामान हटाने को लेकर दो घंटे की मोहलत मांगी गई। लेकिन उनकी बातों को भी नहीं सुनी गई। अतिक्रमण हटाने के दौरान जुटी भीड़ का कहना था कि शहर से पहले अतिक्रमण हटाना चाहिए था। लेकिन प्रशासन द्वारा ऐसा न कर हम गरीबों की अस्थाई झोपड़ी को ही हटाने की कार्रवाई शुरू कर दिया गया। इधर प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू किए जाने के पूर्व मदरिया पावर ग्रिड से अतिक्रमित जगह पर से गुजरी बिजली सप्लाई को कटवा दिया गया। जिसके चलते शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ घंटों तक बिजली बाधित रही। विदित हो की बुधवार के हिन्दुस्तान समाचार पत्र में अतिक्रमण हटाने को अब तक काम शुरू नहीं शीर्षक से खबर प्रमुखता से प्रकाशित की गई थी।