तेज बारिश ने मचाई भागलपुर में तबाही! आज भी बत्ती रहेगी गुल, पानी के लिए मचा रहा हाहाकार;

भागलपुर : जिले में सोमवार को जहां विद्युत कर्मियों की लापरवाही के कारण आनंदगढ़, तुलसीनगर, जबारीपुर सहित शहर के कई इलाकों में 15 घंटे बिजली आपूर्ति ठप रही। वहीं मंगलवार को भागलपुर के कई इलाकों में बत्ती गुल रहेगी। वजह देर रात आई भीषण बारिश है। सोमवार को कई इलाकों में बिजली न आने के कारण पानी के लिए हाहाकार मचा रहा। अब मंगलवार को हालात इससे भी बुरे होने वाले हैं। आंधी-पानी के चलते कई जगह पोल-खंभे उखड़ गए हैं और कई जगह विद्युत लाइन क्षतिग्रस्त हुई है। बरारी इलाके में देर रात से ही बत्ती गुल है।

तिलकामांझी, बरारी, कचहरी चौक, घंटाघर समेत कई इलाकों में देर रात से बिजली कट कर दी गई है। इससे पहले रविवार की रात 12 बजे आनंदगढ़ के पास ट्रक के धक्के से बिजली पोल क्षतिग्रस्त हो गया था। स्थानीय लोगों ने विभाग के अभियंता और लाइनमैन को रात में सूचना दे दी थी, लेकिन लोगों की शिकायत को अनदेखी कर दी गई। सोमवार की सुबह आठ बजे एक लाइनमैन पहुंचकर दोनों मुहल्ले की बिजली काटकर सेंट्रल जेल के तिलकामांझी फीडर को चालू करा लौट गए। इसके बाद आनंदगढ़, तुलसीनगर कालोनी, जबारीपुर सहित आधा दर्जन क्षेत्रों को छोड़ अन्य इलाके को बिजली मिलने लगी। मुहल्ले के लोगों ने जब लगातार फोन करने पर दोपहर डेढ़ बजे के बाद लाइनमैन की टीम पहुंची और क्षतिग्रस्त पोल बदला शुरू किया। पोल बदलने का काम पूरा होने पर तीन बजे के बाद इन क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति शुरू हुई |

भीषण गर्मी में बिजली आपूर्ति ठप रहने के कारण रात में लोग सो नहीं सके। आठ-दस हजार आबादी को बूंद बूंद पानी के लिए तरसना पड़ा। पानी संकट के कारण लोगों की दिनचर्या प्रभावित हुई। मीराचक के लोगों को भी बिजली संकट का सामना करना पड़ा। जर्जर तार टूट करने से बिजली ठप हो गई। दो घंटे के बाद यहां भी तार जोडऩे का काम शुरू हुआ। तार जोडऩे पर तीन घंटे बाद बिजली आपूर्ति शुरू हुई।

इधर, मोहद्दीनगर अस्पताल के पास पोल खड़ा करने के लिए चार घंटे से अधिक देर के लिए विक्रमशिला फीडर से जुड़े तीन दर्जन इलाकों की बिजली बाधित रही। इससे हसनगंज, कुतुबगंज, वारसलीगंज, कमलनगर कॉलोनी, सिकंदरपुर, कबलगंज, बासुकीनाथ कॉलोनी समेत दर्जनों मुहल्ले के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। इधर, लोगों की परेशानी बिजली चालू होने के बाद भी दूरी नहीं हो सकी। बिजली की आंखमिचौनी जारी रहने से भी एक-डेढ़ घंटे आपूर्ति प्रभावित रही।