दुखों में भगवान का दर्शन होता है : किशोरी जी;

शाहकुंड। दुखों में ही भगवान का दर्शन होता है। यही कारण है कि माता कुंती ने भगवान श्रीकृष्ण से कुछ नहीं मांगा, बल्कि दुखों की मांग की है। उक्त बातें प्रिया किशोरी जी ने प्रखंड के माणिकपुर गांव में भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के दूसरे दिन कथावाचन में कहीं। उन्होंने इस दौरान अश्वत्थामा और अर्जुन के बीच भगवान श्रीकृष्ण की लीला के बारे में बताया। उधर प्रखंड के कठौन में भागवत कथा और दरियापुर में मानस सद्भावना सम्मेलन के आयोजन से पूरे प्रखंड में भक्ति का माहौल हो गया है। दरियापुर में महेंद्र शास्त्री जी महाराज द्वारा प्रवचन किया जा रहा है।