बाजार और तातारपुर में छह घंटे बिजली गुल;

शहर के मुख्य बाजार और तातारपुर इलाके में बुधवार को छह घंटे बिजली आपूर्ति ठप रही। इस कारण भीषण गर्मी में लोग परेशान रहे। हालांकि बिजली कंपनी ने एक दिन पहले बिजली आपूर्ति बंद करने की घोषणा की थी, लेकिन दोपहर 11 से तीन बजे तक ही काम कराने की बात कही गई थी। यह काम शाम छह बजे के बाद खत्म हुआ। दरअसल, मोजाहिदपुर पावर हाउस सबस्टेशन में हॉस्पिटल फीडर का ब्रेकर बदला जा रहा था, इसके लिए बिजली आपूर्ति बंद रखी गई थी।

मोजाहिदपुर पावर सबस्टेशन में सबसे पहले हॉस्पिटल फीडर की बिजली 11.50 बजे बंद की गई। इसके बाद 1.15 बजे पूरे सबस्टेशन की बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई। इस कारण रेलवे को भी बिजली आपूर्ति बंद हो गई। हालांकि रेलवे फीडर की बिजली शाम 4.35 बजे बहाल कर दी गई, लेकिन हॉस्पिटल फीडर की बिजली आपूर्ति शाम के 6.10 बजे बहाल की गई, तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली। इस बीच भीषण गर्मी में लगभग 25 हजार लोग परेशान रहे। लंबे समय तक बिजली नहीं रहने के कारण लोगों को पानी का संकट भी झेलना पड़ा। लोगों के घरों में लगे एसी और कूलर ठप पड़े रहे। कई लोगों के घरों में इनवर्टर भी एक-दो घंटे में जवाब दे गया। ऐसे में शाम के छह बजे तक लोग परेशान रहे। बिजली कंपनी के सहायक अभियंता अभिषेक कुमार ने एक दिन पहले 11 से तीन बजे तक ही बिजली आपूर्ति बंद रखने की घोषणा की थी। हालांकि बिजली अधिकारियों ने कहा कि शटडाउन थोड़ा विलंब से लिया गया था और काम भी लंबे समय तक चला। इसकी वजह से दिक्कत हुई। इधर, बरारी सबस्टेशन के इंडस्ट्रियल फीडर और बरारी फीडर की बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई थी। इंडस्ट्रियल फीडर की बिजली 11.05 बजे बंद की गई, जबकि बरारी फीडर की बिजली 11.25 बजे बंद की गई। इंडस्ट्रियल फीडर की बिजली आपूर्ति 12.20 बजे बहाल की गई, जबकि बरारी फीडर की बिजली आपूर्ति 1.15 बजे से सामान्य हुई। तिलकामांझी के सहायक अभियंता प्रणव कुमार मिश्रा ने बताया कि इंडस्ट्रियल फीडर का लोड शिफ्ट किया जा रहा था। दरअसल, इंडस्ट्रियल एरिया की औद्योगिक इकाई में बार-बार ट्रिपिंग और लो वोल्टेज की शिकायत आ रही थी। इसलिए इस फीडर पर इंडस्ट्रीयल एरिया के बाहर के जितने ट्रांसफार्मर का लोड था, उसे बरारी फीडर से जोड़ दिया गया। अब इंडस्ट्रियल फीडर में ट्रिपिंग और लो वोल्टेज की समस्या नहीं होगी। इस काम के लिए शटडाउन लेकर काम कराया जा रहा था।