बिहार के इस विवि में स्नातक के नए सत्र में 11 से आनलाइन आवेदन, 30 अप्रैल तक आप कर लें यह काम;

टीएमबीयू में नामांकन समिति की बैठक में लिया गया निर्णय 30 अप्रैल तक विवि के पोर्टल पर आवेदन कर सकेंगे छात्र। एक मई से पांच मई के बीच हो सकेगा सुधार। पहली मेधा सूची 15 मई को प्रकाशित होगी। 16 मई से 23 मई के बीच छात्र नामांकन ले सकेंगे।

भागलपुर। तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय (टीएमबीयू) में स्नातक के नए (सत्र : 2022-25) में नामांकन का निर्णय ले लिया गया है। इसके लिए शेड्यूल तय कर लिया गया है। मंगलवार को हुई नामांकन समिति की बैठक में इस पर निर्णय हुआ। प्रतिकुलपति प्रो. रमेश कुमार के निर्देश पर डीएसडब्ल्यू डा. राम प्रवेश सिंह की अध्यक्षता में बैठक हुई है।

बैठक में निर्णय लिया गया है कि छात्र 11 अप्रैल से 30 अप्रैल तक विवि के पोर्टल पर आनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन में किसी तरह का सुधार एक मई से पांच मई के बीच हो सकता है। पहली मेधा सूची 15 मई को प्रकाशित होगी। पहली मेधा सूची के अनुसार 16 मई से 23 मई के बीच छात्र नामांकन ले सकेंगे। नामांकन के साथ संबंधित कालेज में दस्तावेजों का सत्यापन भी कराना है। कालेजों को 25 मई तक नामांकित छात्रों की सूची अपने पोर्टल पर अपडेट कर देनी है।

दूसरी मेधा सूची का प्रकाशन 31 मई को होगा। दूसरी मेधा सूची से नामांकन एक मई से सात मई तक होगा। दस्तावेजों के सत्यापन के बाद कालेजों को आठ मई तक नामांकित छात्रों का ब्यौरा पोर्टल पर अपलोड कर देना है। समिति ने निर्णय लिया है कि स्नातक में बढ़ी हुई सीटों और बीपीएल कोटे में आरक्षित सीटों पर नामांकन तभी होगा, जब विवि स्तर से इसकी अधिसूचना जारी होगी।

समिति ने एमएड (सत्र : 2021-23) में नामांकन को लेकर भी निर्णय ले लिया है। प्रथम मेधा सूची आठ अप्रैल को प्रकाशित होगी। छात्र 11 से 16 अप्रैल तक नामांकन ले सकेंगे। 18 अप्रैल तक पहली मेधा सूची से नामांकित छात्रों की सूची डीएसडब्ल्यू कार्यालय में जमा करना होगा। दूसरी मेधा सूची 20 अप्रैल को प्रकाशित होगी, जिससे 25 अप्रैल तक नामांकन होगा। डीएसडब्ल्यू ने बताया कि पहली मेधा सूची में एक से पचास तक मेधा में आने वाले छात्रों को टीचर्स ट्रेनिंग कालेज, घंटाघर में नामांकन का मौका मिलेगा, जबकि 51 से 100 की मेधा में आने वाले छात्रों को विमल विभूति बीएड कालेज में नामांकन का मौका दिया जाएगा।

दूसरी मेधा सूची के अनुसार 101 से खाली सीटों तक टीचर्स ट्रेनिंग कालेज, घंटाघर और इसके अलावा बची हुई सीटों पर विमल विभूति कालेज में मौका दिया जाएगा। बैठक में सीसीडीसी डा. केएम सिंह, डीन एकेडमिक्स डा. अशोक कुमार ठाकुर, एसएम कालेज के प्राचार्य डा. रमन सिन्हा, यूडीसीए के हेड प्रो. निसार अहमद और यूएमआएस के प्रतिनिधि शामिल थे।