वन-वे ट्रैफिक का पहला दिन : कहीं सड़क खाली दिखी तो कहीं लग गई भीड़, जानकारी नहीं होने से भटकते भी;

सैंडिस के चारों तरफ वन-वे ट्रैफिक का मंगलवार को ट्रायल हुआ। पहले दिन कहीं पर लोगों ने राहत महसूस किया तो कुछ जगहों पर वाहनों की संख्या ज्यादा होने से परेशानी भी हुई। घूनरपीर बाबा चौक से तिलकामांझी की तरफ वन-वे होने से वाहन चालकों को राहत मिली तो तिलकामांझी से आगे निकलने पर कचहरी चौक पर परेशानी का भी सामना करना पड़ा। तिलकामांझी से कचहरी चौक होते हुए ही घूरनपीर बाबा चौक और आदमपुर की तरफ जाने की अनुमति थी, इसलिए कचहरी चौक पर वाहनों की संख्या बढ़ने से परेशानी का सामना करना पड़ा। पुलिस पदाधिकारी का कहना है कि वन-वे ट्रैफिक जारी रहेगा।

डीआईजी भी निकले ट्रैफिक का जायजा लेने

डीआईजी विवेकानंद भी वन-वे ट्रैफिक के पहले दिन जायजा लेने निकले। वे कचहरी चौक पहुंचे। वहां पर उन्होंने डीएसपी ट्रैफिक प्रकाश कुमार और ट्रैफिक थानाध्यक्ष ब्रजेश कुमार से बात की। उन्होंने डीएसपी से कहा कि वन-वे ट्रैफिक का पहला दिन है, इसलिए लोगों को परेशानी हो रही है। उन्होंने इसको लेकर साइनएज लगाने और व्यवस्था को लगातार रखने को कहा ताकि लोगों को इसके बारे में जानकारी मिल जाए और परेशानी कम हो सके। डीएसपी ट्रैफिक ने बताया कि जल्द ही वन-वे ट्रैफिक को लेकर साइनएज भी लगाए जाएंगे ताकि लोगों को पता चल सके कि उन्हें किस तरफ से जाना है और किधर से नहीं जाना है।

बॉक्स

बड़ा सवाल, सुबह से देर शाम कितने बजे तक रहेगी व्यवस्था?

सैंडिस के चारों तरफ वन-वे ट्रैफिक की शुरुआत मंगलवार को हो चुकी है। सुबह आठ बजे से ही ट्रैफिक पदाधिकारी और जवानों की ड्यूटी लगाई जा रही है। ऐसे में सवाल है कि सुबह आठ बजे से शाम कितने बजे तक वन-वे ट्रैफिक लागू रहेगा। पहले दिन को लेकर ट्रैफिक थानाध्यक्ष ब्रजेश कुमार ने कहा कि मंगलवार को देर शाम आठ बजे तक ट्रैफिक पदाधिकारी और जवानों को वन-वे ट्रैफिक की ड्यूटी पर लगाया गया। पर लगातार 12 घंटे की ड्यूटी ट्रैफिक में कैसे करायी जा सकती है। ट्रैफिक डीएसपी प्रकाश कुमार ने बताया कि नई व्यवस्था का ट्रायल चल रहा है, इसे पूरी तरह से लागू करने के बाद ट्रैफिक पुलिस पदाधिकारी और जवानों की ड्यूटी दो शिफ्ट में लगाई जाएगी। दो शिफ्ट सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक और दोपहर दो बजे से देर शाम आठ बजे तक के लिए हो सकता है। डीएसपी ने बताया कि जिन जगहों पर ज्यादा भीड़ रहती है वहां पर ड्यूटी के घंटे को बढ़ाया भी जा सकता है। इसके लिए अतिरिक्त बदल की जरूरत की बात भी उन्होंने कही।

नई व्यवस्था को समझें तो परेशानी नहीं होगी

मंगलवार को वन-वे ट्रैफिक के ट्रायल के पहले दिन लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। ज्यादातर लोग यह कहते दिखे कि उन्हें जानकारी नहीं है। वैसे तो शहर के विभिन्न इलाकों में ट्रैफिक को वन-वे करने की तैयारी है पर फिलहाल सिर्फ सैंडिस के चारों तरफ वन-वे ट्रैफिक की शुरुआत की गई है।

सैंडिस के चारों तरफ इन रूट का रखें ध्यान तो नहीं होगी परेशानी

– तिलकामांझी चौक से कचहरी चौक जा सकते हैं पर घूरनपीर बाबा चौक की तरफ जाने पर रोक

– तिलकामांझी चौक से कचहरी चौक-घूरनपीर बाबा चौक होते हुए वापस तिलकामांझी जा सकते हैं

– घूरन पीरबाबा चौक होते हुए तिलकामांझी जा सकते हैं पर कचहरी की तरफ नहीं जा सकते

– आदमपुर से घूरनपीर बाबा चौक होते हुए तिलकामांझी और वहां से कचहरी चौक जा सकते हैं

– घूरन पीरबाबा चौक से कचहरी नहीं जा सकते पर कचहरी से घूरनपीर बाबा आ सकते हैं

– तिलकामांझी से मेडिकल कॉलेज भी जाना हो तो कचहरी चौक-घूरनपीर बाबा होते हुए जा सकेंगे