विमानन कंपनी तैयार तो प्रशासन देगा संसाधन;

स्पाइज जेट विमान कंपनी भागलपुर में हवाई जहाज उतारने को तैयार होगी तो प्रशासन उसे संसाधन उपलब्ध कराएगा। लेकिन इसके लिए कंपनी को लिखकर जिला प्रशासन को देना होगा कि भागलपुर का रनवे विमान चलाने के लिए ठीक है। इसकी मांग को लेकर बिहपुर विधायक ई. शैलेन्द्र मंगलवार को डीएम से मिले। सोमवार को विधायक आयुक्त से भी मिले थे।

विधायक ने ज्ञापन सौंपकर बताया कि स्पाइज जेट विभाग के सीईओ से बात हुई है। प्रशासनिक स्वीकृति मिलने पर वह विमान उतारने को तैयार है। बतौर विधायक भागलपुर का रनवे 40 सीटर विमान के लिए पर्याप्त है। डीएम को बताया गया कि विमान कंपनी के विशेषज्ञ आकर भागलपुर हवाई अड्डा का निरीक्षण करेंगे। जिला प्रशासन से स्वीकृति मिलने पर उड़ान की स्वीकृति के लिए विभाग से अनुमति ली जाएगी। डीएम सुब्रत कुमार सेन ने बताया कि अगर कंपनी आकर कहती है कि वह विभाम उतारना चाहती है और रनवे उपयुक्त है तो हवाई अड्डा पर प्रशासन द्वारा सुरक्षा,फायर बिग्रेड सहित अन्य व्यवस्था की जाएगी। लेकिन रनवे उपयुक्त होने की जानकारी लिखित देनी होगी। जिला प्रशासन हर तरह से सहयोग देने को तैयार है।

29वें दिन भी धरना जारी

भागलपुर हवाई सेवा संघर्ष समिति की ओर से ‘भागलपुर मांगे हवाई जहाज को लेकर घंटाघर में सोमवार को 29वें दिन भी धरना जारी रहा। मंगलवार को सर्जरी विभाग के डॉक्टरों की उपस्थिति धरना स्थल पर रही। डॉक्टरों ने हर तरह से संघर्ष समिति को अपना समर्थन देने का आश्वासन दिया। डॉक्टर एस एन झा ,डॉ मृत्युंजय चौधरी ,डॉ अशोक राय ,डॉक्टर सी एम उपाध्याय,डॉ० प्रदीप कुमार बजाज ,डॉ पवन कुमार झा, डॉक्टर जे पी सिन्हा,डा० कुमार रत्नेश ,डॉक्टर सुधीर कुमार ,डॉक्टर अभिनय कुमार, डॉक्टर सन्नी सिंह ,डॉ रवि कांत कुमार, डॉ कमलदीप कुमार मिश्रा आदि डाक्टर धरना में शामिल हुए। डाक्टरों ने कहा कि हवाई जहाज यहां की आवश्यक्ता है। हवाई सेवा के बिना भागलपुर के लोगों को बेहतर इलाज नहीं दे पाते एवं नई तकनीक का इस्तेमाल भी नहीं हो पाता है। धरना स्थल पर भागलपुर क्रिकेट टीम हेमंत ट्रॉफी के विजेता के सभी खिलाड़ी धरनास्थल पर पहुंचे और मांग का समर्थन किया। इस मौके पर राम निधि चतुर्वेदी, अशोक कुमार सिंह ,सुबोध मंडल, रतन राय ,अरविंद, प्रोफेसर आनंद मिश्रा, प्रोफेसर सुरेश प्र० यादव, प्रोफेसर मनोज कुमार, संगीता तिवारी, कांति पाठक, बृजेश शाह आदि उपस्थित थे।