शहर में वन-वे ट्रैफिक जल्द, जाम मिलेगी मुक्ति;

भागलपुर, वरीय संवाददाता। शहरवासियों को जल्द महाजाम से राहत मिलेगी। महाजाम से मुक्ति के लिए यातायात प्रशासन ने वन-वे ट्रैफिक का प्रस्ताव तैयार किया है। जिसे संबंधित विभागों से विचार-विमर्श के बाद लागू किया जाएगा। इसके अलावा जाम की बड़ी वजह बनी डिक्सन बस स्टैंड (कोयला डिपो) को जगदीशपुर के रक्साडीह ले जाने की तैयारी भी की जा रही है। तब तक रेलवे को यहां बुनियादी सुविधाएं बहाल करने के निर्देश दिए गए। जीरोमाइल चौक से लेकर नवगछिया जीरोमाइल तक नो ओवरटेक जोन घोषित होने के बाद विक्रमशिला सेतु पर तैनात कर्मियों के लिए सेतु पर ही दो शेड लगाने का निर्णय लिया गया। यातायात के सुगम संचालन में बाधा के निराकरण के लिए शुक्रवार को डीएम की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक बुलाई गई। इसमें एसएसपी, नवगछिया के एसपी, सभी एसडीओ, डीटीओ के अलावा कई संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। डीएम ने शहर में रोज लगने वाले जाम से राहत के लिए अफसरों से एजेंडे पर चर्चा की। जिसमें 10 बिंदुओं पर चर्चा की गई। बैठक में शहरी इलाकों में फेजवाइज अतिक्रमण हटाने से लेकर वेंडरों की शिफ्टिंग आदि योजना पर चर्चा की गई।

नाला निर्माण पूरा होने के बाद शीघ्र सड़क की मरम्मत कराए बुडको

बैठक में यातायात के डीएसपी के प्रस्ताव पर चर्चा की गई। इसमें तिलकामांझी चौक से कचहरी चौक और कचहरी चौक से मनाली चौक होते हुए तिलकामांझी चौक तक वन-वे ट्रैफिक का प्रस्ताव है। इसके अलावा स्टेशन चौक से तातारपुर चौक, नाथनगर थाना के सामने से बाइस बिग्घी चौक, बिषहरी स्थान चौक, नरगा चौक, विश्वविद्यालय थाना होकर तिलकामांझी चौक तक वनवे ट्रैफिक का प्रस्ताव है। उल्टा पुल और उसके नीचे बस स्टैंड के पास जाम हटाने को एसडीओ को निर्देश दिया गया। शहर में नाला निर्माण को लेकर भी यातायात में असुविधा का मुद्दा उठा। इस पर बुडको को निर्देश दिया गया कि नाला निर्माण कार्य पूर्ण होने के बाद अविलंब सड़क की मरम्मत करायी जाए। जगदीशपुर के रक्साडीह मौजा में 1.75 एकड़ भूमि पर बस स्टैंड निर्माण के प्रस्ताव पर नगर विकास की सहमति मिलने पर डिक्सन बस स्टैंड को वहां शिफ्ट किया जाएगा।

ओवरटेक के आरोप में 54 वाहनों से 31.55 लाख जुर्माना वसूले

विक्रमशिला सेतु पर जाम नहीं लगे, इसके लिए दोनों ओर स्थापित टीओपी के कामकाज की समीक्षा की गई। भागलपुर के एसएसपी व नवगछिया के एसपी ने बताया कि दोनों ओर की पुलिस मोबाइल पेट्रोलिंग कर जाम हटाने में प्रयासरत हैं। पुल पर जाम ओवरटेक से या वाहनों के पंक्चर या खराब होने से लगता है। क्रेन की मदद से खराब वाहनों को हटाकर यातायात सुदृढ़ किया जा रहा है। जबकि ओवरटेक करने वाले वाहनों पर जुर्माना लगाया जा रहा है। अब तक 54 वाहनों के विरुद्ध कार्रवाई में 31.55 लाख का जुर्माना वसूला गया है। समीक्षा में बताया गया कि पुल पर तैनात पुलिसबलों के लिए छांव की व्यवस्था नहीं है। इससे कर्मियों को कठिनाई होती है। इस पर डीएम ने डीटीओ को सड़क सुरक्षा मद से अविलंब नियमानुसार दो शेड का निर्माण करने को कहा।