सदर अस्पताल के 63 बेडों पर पाइप लाइन से हो रही आक्सीजन सप्लाई;

किशनगंज : कोविड की रफ्तार किशनगंज में भले ही धीमी हो चूकी है, लेकिन फिर से महानगरों में फिर से केस सामने आने पर सरकार और स्वास्थ्य विभाग की चिता बढ़ गई है। इसके लिए फिर से स्वास्थ्य विभाग की तैयारी पर विभाग अलर्ट हो गया है। जिले में भी कोविड को लेकर पूर्व से स्वास्थ्य विभाग सभी तैयारी मुकम्मल कर लिया गया है। बीते लहर में भी विभाग सभी तैयारी के साथ कोरोना से निपटने के लिए तैयार था।

वर्तमान में सदर अस्पताल परिसर में नवनिर्मित आक्सीजन प्लांट से 63 बेडों पर पाइपलाइन के माध्यम से आक्सीजन पहुंचाया जा रहा है। ताकि विकट परिस्थिति में आक्सीजन की कमी से किसी की जान ना जाए, जिसको लेकर अस्पताल प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है और आक्सीजन प्लांट की देखरेख के लिए एक आपरेटर को रखा गया है। आपरेटर समय-समय पर मशीन का देखरेख के साथ आन आफ करता है। वहीं बीते कुछ दिन पूर्व हैदराबाद से इंजीनियर आकर आक्सीजन प्लांट के बैकअप के लिए दूसरा कंप्रेशर मशीन स्टाल किया गया है। पहले से एक कंप्रेसर मशीन लगा था दूसरा मशीन लगाने का कारण कभी भी शट डाउन होने पर बैकअप के तौर पर दूसरा मशीन को चालू कर आक्सीजन प्लांट सुचारू रूप से काम करेगा। आक्सीजन प्लांट के साथ सभी प्रकार के आक्सीजन सिलेंडर भी भारी मात्रा में अस्पताल में स्टाक है। पर्याप्त संख्या में है बेड की व्यवस्था:: सदर अस्पताल में कोविड संक्रमित मरीजों के लिए पर्याप्त संख्या में बेड की व्यवस्था कर रखा है। जिसमें सभी उपकरणों से लेस 30 बेड का कोविड आइसोलेशन वार्ड के साथ शिशु कोविड वार्ड के लिए 10 बेड तैयार रखा गया है। वहीं ट्रामा सेंटर में 10 बेड का आईसीयू भी तैयार रखा गया है। वहीं जरूरत पड़ने पर आइसोलेशन वार्ड के लिए कई जगह को चिह्नित किया गया है। सदर अस्पताल में बनाए गए कोविड वार्ड को सभी उपकरण और आक्सीजन पाइप लाइन से लेस रखा गया है। किसी भी विकट परिस्थिति से लड़ने के लिए सदर अस्पताल तैयार है। आरटीपीसीआर लैब का हो रहा निर्माण:: बीते कोरोना के दो लहरों में हुई परेशानी से निजात के लिए सदर अस्पताल परिसर में आरटीपीसीआर लैब का निर्माण किया जा रहा है। लैब का निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है उम्मीद है एक से दो सप्ताह के अंदर बनकर तैयार हो जाएगा। जिससे जिले के कोरोना संक्रमित मरीजों को जांच रिपोर्ट के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा और समय पर संक्रमित मरीजों का इलाज शुरू हो जाएगा। भले ही दूसरे राज्य में कोरोना ने एक बार फिर से दस्तक दे दिया है जिसको लेकर राज्य सरकार फिर से गंभीर हो गए हैं। लेकिन जिले के लोगों में अब कोरोना की डर खत्म हो गया है। लोग अब मास्क पहना भूल गए हैं और कोविड गाइडलाइन का पालन भी नहीं कर रहे हैं। अस्पताल उपाधीक्षक डा. अनवर हुसैन ने बताया कोरोना से लड़ने के लिए सदर अस्पताल तैयार है। यहां तक कि इमरजेंसी फ्लू वार्ड बनाया गया है साथ ही प्रसव वार्ड में भी एक आइसोलेशन रूम बनाया गया है।